ads

Style1

Style2

Style3[OneLeft]

Style3[OneRight]

Style4

Style5

आधारभूत, ब्रह्माण्ड का वह विशिष्ट गुण है। जो ब्रह्माण्ड संबंधी चर्चाओं का कारण बनता है। आधारभूत अर्थात अपरिवर्तित.. यह गुण ब्रह्माण्ड का मूल-आधार है। वे गुण जो ब्रह्माण्ड के अस्तित्व के पर्याय हैं। जो अपरिवर्तित हैं। फलस्वरूप हम उनके बारे में चर्चा कर पाते हैं। इस गुणात्मक ब्रह्माण्ड को आधारभूत ब्रह्माण्ड कहा जाता है। जी हाँ, आपका सोचना बिल्कुल सही है कि ब्रह्माण्ड और आधारभूत ब्रह्माण्ड में फर्क है। इन दोनों को एक नहीं माना जा सकता। क्योंकि आधारभूत ब्रह्माण्ड की व्यापकता स्वाभाविक रूप से ब्रह्माण्ड की व्यापकता से अधिक है। आधारभूत ब्रह्माण्ड में शामिल होने के लिए ऐसा कुछ भी शेष नही रह जाता है, जिसकी कल्पना भी की जा सके। इसी कारण संगत परिस्थितियों के आधार पर अस्तित्व की व्याख्या विकास के रूप में की जाती है। आधारभूत ब्रह्माण्ड की संरचना के आधार पर असंगत परिस्थितियों के अस्तित्व को नकार दिया जाता है।


हमारे सामने आधारभूत ब्रह्माण्ड से जुड़ी हुई चुनौतियाँ हैं कि वे कौन से गुण हैं। जो अपरिवर्तित हैं। जिनके मान में परिवर्तन नही होता। ब्रह्माण्ड के वे कौन-कौन से गुण हैं जो अवस्था परिवर्तन (प्रकृति निर्माण) का कारण बनते हैं ? और इन सब में सबसे महत्वपूर्ण प्रश्न यह उठता है कि आखिर आधारभूत ब्रह्माण्ड का स्वरुप क्या है ?? क्योंकि इस प्रश्न के उत्तर के साथ ही सभी प्रश्नों के उत्तर अपने आप मिल जाते हैं। चाहे वह प्रश्न प्रकृति निर्धारण से सम्बंधित हो या ब्रह्माण्ड की बनावट से सम्बंधित हो। या फिर व्यवहारिक प्रकरण के निर्माण से सम्बंधित हो। एक बात तो स्पष्ट है कि ब्रह्माण्ड के आधारभूत गुण, आधारभूत ब्रह्माण्ड की व्यापकता और प्रकृति निर्धारण का कारण बनते हैं।

आधारभूत ब्रह्माण्ड के बारे में

आधारभूत ब्रह्माण्ड, एक ढांचा / तंत्र है। जिसमें आयामिक द्रव्य की रचनाएँ हुईं। इन द्रव्य की इकाइयों द्वारा ब्रह्माण्ड का निर्माण हुआ। आधारभूत ब्रह्माण्ड के जितने हिस्से में भौतिकता के गुण देखने को मिलते हैं। उसे ब्रह्माण्ड कह दिया जाता है। बांकी हिस्से के कारण ही ब्रह्माण्ड में भौतिकता के गुण पाए जाते हैं। वास्तव में आधारभूत ब्रह्माण्ड, ब्रह्माण्ड का गणितीय भौतिक स्वरुप है।
«
अगला लेख
नई पोस्ट
»
पिछला लेख
पुरानी पोस्ट
  • 1Blogger
  • Facebook
  • Disqus

1 Comment

comments powered by Disqus

शीर्ष